Mar 17, 2016

Heart Touching Love Shayari Reloaded

0


हर सज़ा कुबूल की सर झुका के हमने,
कसूर ये भी था कि बेकसूर थे हम...

Heart Touching Love Shayari Reloaded


Reactions:

0 comments:

Post a Comment